भारत में आजादी के समय ही सारे चीते लुप्त हो गए थे

और अब 75 के बाद नामीबिया से 8 चीते मध्य प्रदेश के कुनो जंगल में छोड़ा गया

आपको बतादे की 1947 में आखिरी 3 चीते को महाराजा रामानुज प्रताप सिंह ने शिकार किया था

आपको बता दे की चीते की स्पीड 120 kmph की होती

अपनी फुल स्पीड में चीता सिर्फ 450 मीटर ही दौड़ सकता है

आपको बता दे की चीते कई मिल दूर आसानी से देख सकता है क्यो की उसकी आंख सीधा दिशा में होता है

आपको बता दे की चीता मात्र 1 मिनट अपने शिकार का पीछा करता है

For More web stories visit our website rojgarsahayta.com to get latest information and updates